शनि के शाही वलय


सभी गैस महाकाय ग्रहों के अपने वलय है लेकिन शनि के वलयों सबसे हटकर है, वे सबसे स्पष्ट, चमकदार, जटिल और शानदार वलय है। ये वलय इतने शाही और शानदार है किं शनि को सौर मंडल का आभूषण धारी ग्रह माना जाता है। खोज 1610 : गैलीलिओ गैलीली ने सर्वप्रथम शनि के वलयों को अपने…

विलियम हर्शेल : युरेनस के खोजकर्ता


फ़्रेडरिक विलियम हरशॅल(German: Friedrich Wilhelm Herschel) जर्मन-मूल के अंग्रेज खगोलविद् और संगीतकार थे । उन्होंने 1770 के दशक में खगोल विज्ञान को अपनाया, अपना स्वयं का दूरबीन व दर्पण बनाया, और यूरेनस ग्रह की खोज के लिए 1781 में प्रसिद्धि पाई । उन्होंने यूरेनस (1787) और शनि (1789) के दो-दो उपग्रहों को भी खोजा ।…

सौरबाह्य(EXOPLANET) ग्रहों की खोज का विज्ञान


अगस्त 2016 तक 3000 से अधिक सौरबाह्य ग्रह खोजे जा चुकें है। इनमे से लगभग 100 ग्रहों को 2004 पश्चात चीली स्थित ला सिल्ला वेधशाला(La Silla) के हाई एक्युरेशी रेडियल वेलोसिटी प्लेनेट सर्चर(High Accuracy Radial Velocity Planet Searcher- HARPS) के द्वारा खोजा गया है। 2009 के पश्चात एक हजार से अधिक ग्रहों को नासा की…

सौर मंडल के बाहर की सैर


न्यु हारिजोंस(New Horizones) अंतरिक्षयान के प्लूटो अभियान की सफलता के साथ ही मानव ने सौर मंडल के मुख्य पिंडो की प्राथमिक यात्रा पूरी कर ली है। अब ब्रेकथ्रु स्टारशाट(Breakthrough Starshot) अभियान तथा एचबार टेक्नालाजीस(Hbar Technologies) जैसी कंपनीयों के द्वारा सौर मंडल के बाहर जाने वाले अंतरिक्षयानो के निर्माण का प्रारंभ हो गया है। ये यान…

सौर ऊर्जा चालित अन्वेषक यान : जुनो


सूर्य पृथ्वी की कक्षा, मंगल और उससे बाहर जाने वाले अंतरिक्ष यानो को ऊर्जा देता है। नासा के बृहस्पति ग्रह पर जाने वाला जुनो अभियान सौर ऊर्जा चालित अधिकतम दूरी वाला अंतरिक्षयान है। इस अभियान की सफ़लता से भविष्य मे सौर ऊर्जा चालित अंतरिक्ष अन्वेषण को नयी दिशा मिलेगी। वे कहाँ तक गये है ?…

क्या पृथ्वी का भविष्य शुक्र जैसे भयावह होगा ?


आकार में एक जैसे और अक्सर जुड़वां कहे जाने वाले ग्रह पृथ्वी और शुक्र ग्रह का मूल एक ही हैं, लेकिन बाद में दोनों का विकास एकदम अलग हुआ है। इसमे एक ग्रह एक शुष्क और उष्ण है तो दूसरा नम और जीवन से भरपूर। इसका उत्तर इन ग्रहों की सूरज से दूरी में छुपा…

चित्रकार की कल्पना मे नौंवा ग्रह

सौर मंडल मे नौंवे ग्रह की खोज का दावा


कालटेक विश्वविद्यालय के वैज्ञानिको ने नौंवे ग्रह के अस्तित्व का दावा किया है? कालटेक विश्वविद्यालय के वैज्ञानिको के अनुसार उन्होने सौर मंडल मे एक नये गैस महादानव ग्रह के प्रमाण खोज निकाले है। उनके अनुसार यह ग्रह विचित्र है और उसकी कक्षा बाह्य सौर मंडल मे अत्याधिक खिंची हुयी है। इस ग्रह को शोधकर्ताओं ने…