चित्रकार की कल्पना मे नौंवा ग्रह

सौर मंडल मे नौंवे ग्रह की खोज का दावा


कालटेक विश्वविद्यालय के वैज्ञानिको ने नौंवे ग्रह के अस्तित्व का दावा किया है? कालटेक विश्वविद्यालय के वैज्ञानिको के अनुसार उन्होने सौर मंडल मे एक नये गैस महादानव ग्रह के प्रमाण खोज निकाले है। उनके अनुसार यह ग्रह विचित्र है और उसकी कक्षा बाह्य सौर मंडल मे अत्याधिक खिंची हुयी है। इस ग्रह को शोधकर्ताओं ने…

calendar-04

कैलेंडर, संवंत या पंचांग : एक विवेचन


1 जनवरी अर्थात ग्रेगोरियन कैलेंडर का नववर्ष, नया संवंत, नया कैलेंडर। आइये जानते है इन कैलेंडरो के बारे मे। कैलेंडर(पंचांग) एक प्रणाली है जो समय को व्यवस्थित करने के लिये प्रयोग की जाती है। कैलेंडर का प्रयोग सामाजिक, धार्मिक, वाणिज्यिक, प्रशासनिक या अन्य कार्यों के लिये किया जा सकता है। यह कार्य दिन, सप्ताह, मास,…

आदित्य-1

आदित्य-1: इसरो की सूर्य पर पहुंचने की तैयारी


सूर्य प्रभांमडल(कॅरोना) का अध्ययन एवं धरती पर इलेक्ट्रॉनिक संचार में व्यवधान पैदा करने वाली सौर-लपटों की जानकारी हासिल करने के लिए भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) आदित्य-1 उपग्रह छोड़ेगा। इसका प्रक्षेपण वर्ष 2012-13 में होना था मगर अब इसरो ने इसका नया प्रक्षेपण कार्यक्रम तैयार किया है। इसरो अध्यक्ष एएस किरण कुमार ने कहा है…

सौर मंडल मे नया ग्रह ? (चित्रकार की कल्पना के अनुसार)

सौर मंडल मे एक नये ग्रह की खोज ?


संभवतः खगोलवैज्ञानिको ने सौर मंडल मे महा-पृथ्वी(Super-Earth) के आकार का नया ग्रह खोज लिया है! खगोल वैज्ञानिको ने अटाकामा लार्ज मिलिमिटर/सबमिलिमिटर अरे(Atacama Large Millimeter/submillimeter Array (ALMA)) से प्राप्त आंकड़ो के अनुसार अल्फा सेंटारी तारे की दिशा मे एक दूरस्थ पिंड खोजा है। यह पिंड सौर मंडल के बाहरी भाग मे प्रतित हो रहा है और उसकी…

धरती को निगलने वाला : सूर्य बेहद गर्म गैसों से बना एक गोला है जिसके केन्द्र का तापमान 1.5 करोड़ डिग्री सेल्सियस है। सूर्य का निर्माण करने वाली करीब 72 प्रतिशत गैस हाइड्रोजन है, जबकि इसका 26 प्रतिशत हिस्सा हीलियम का है। हर सेंकड सूर्य पर करीब 40 लाख टन हाइड्रोजन जलता है। जब हाइड्रोजन का भंडार जल कर खत्म हो जाएगा तब हीलियम जलेगा।

सूर्य: धधकते आग के गोले की 8 दिलचस्प बातें


इसमें तो कोई दो राय नहीं कि सूर्य है तो जीवन है। ग्रहण के समय यही धधकता आग का गोला चांद के पीछे ढक जाता है और कुछ समय के लिए धरती पर अंधेरा छा जाता है। आइये जानें सूर्य से जुड़ी दिलचस्प बातें।

पृथ्वी तथा केप्लर 452b

हमारे वर्तमान ज्ञान के आधार पर पृथ्वी के जैसे ग्रह पर पहुंचने मे हमे कितना समय लगेगा ?


मान लिजिये कि पृथ्वी पर एक विश्य व्यापी संकट आता है और हमे पृथ्वी छोड़कर जाना पड़ रहा है। ऐसी स्थिति मे हमे पृथ्वी से सर्वाधिक समान ग्रह पर जाने के लिये जितना समय लगेगा ? प्रारंभ करने के लिये अब तक की हमारी जानकारी के अनुसार पृथ्वी से सर्वाधिक समानता वाला ग्रह केप्लर-452b है।…

200px-Gravitational_slingshot.svg

अंतरग्रहीय अभियान : गुरुत्विय सहायता(Gravity Assist)


अंतरग्रहीय अभियानो मे विशाल गैस दानव ग्रहो(बृहस्पति, शनि, युरेनस, नेपच्युन) तथा अन्य ग्रहों के गुरुत्वाकर्षण के प्रयोग के यानो को गति दी जाती है, इस तरिके को गुरुत्विय सहायता(Gravity Assist) कहते है। इस तरिके मे इंधन का प्रयोग नही होता है और यान की गति बढ़ जाती है। अगस्त 1977 मे प्रक्षेपित वायेजर 2 बृहस्पति…